Cricket के सारे match fixing रहता है जानिए बिस्तार से

2
Cricket के सारे match fixing रहता है जानिए बिस्तार से

हेलो दोस्तों आज एकबार फिर से आप सभी को internet sikho में बहुत बहुत स्वागत है .दोस्तों आप सभी ने क्रिकेट मैच देखते ही होंगे .और आपको देखने में मजा भी आता होगा ना.लेकिन जब आप कोई भी मैच देखते है तब आपको मन में यह नहीं चलता है की वोह प्लेयर जान बुझकर यह सब कर रहे है या सच में ऐसा ही हो   राहा है .क्यों की जब आप match देखते है तब आपको सबकुछ सही ही नजर आता है लेकिन क्या सही में वोह सच हो रहा है ?दोस्तों आज में आपको क्रिकेट के बारे में पूरी हिस्ट्री बाताऊंगा की क्रिकेट match fixing होता है या नहीं .और इस पोस्ट को पढने के बाद हो सकता है आप क्रिकेट मैच देखना बंध kar  दे .

Cricket के सारे match fixing रहता है जानिए बिस्तार से

 

cricket match fixing रहता है इसीलए हामे क्रिकेट मैच नहीं देखना चाहिए

दोस्तों में आपलोगों को बाताना चाहूँगा की फालतू tv में आजकाल क्रिकेट मैच बहुत आता है तोह उसको भी जादा ना देखे .क्यों की क्रिकेट का अब कोई खेल नहीं है यह एक तरह के सट्टेबाजी है और यह एक तरह के जुआ है .10 साल पहले श्री राजीव दिक्सित जी ने यह बात काहा था की क्रिकेट एक तरह के सत्ता है .और वोह आज आप खुद ही देख लिए होंगे बहुत सारे match fixing में शामिल होते हुए .क्यों की क्रिकेट में हर एक match fixed है और आप उसमे ताली बजा रहे है ,पताका फोड़ रहे है चक्के और छक्के पे आप मजे कर रहे है .वल्कि क्रिकेट match fixing में सब fixed रहता है की कितने चक्के लागेगा और कितने छक्के लगेगा इसमें ताली बाजाने वाले बात काहा से आता है ?और सिर्फ येही नहीं वल्कि पुरे match में कितने नो बल कितने वाइट बल यह सब भी fixed रहता है.हर एक खिलाडी पैसा खाकर मैच हार रहे है और आप ऐसे ही दुखी होने लाग जाते है की हांम हार गए और उन्होंने तोह पैसे खाए है हारने के लिए .तोह फिर आप क्यों दुखी हो रहे है ?की भारत हार गया यह नहीं खेल पाया वोह नहीं खेल पाया क्यों की उन्होंने पैसे खा राखे है उससे तोह हारना ही हैं ना .क्यों की हांम सभी जानते है की हारने के लिए ही जादा पैसा मिलता है जीतनेवाले के तुलोना में .और आईपीएल का जोह महल बाना है भारत में यह तोह फुल सट्टेबाजी है .कितना बड़ा घोटाला हुआ है आईपीएल में आप सबको उसके बारे में मालूम है ?और अब वोह घोटाला के आगे पर्दा डालने के कौशिश कर रहे है और उसको भागा दिया जोह इस आईपीएल का मुख्य घोटाला बाज था आईपीएल का  वोह अब लन्दन में बैठ गया .और अब    उसके पद में आया ललित मोदी ,और यहाँ जोह बड़े बड़े मगर माछ है वोह खा रहे थे पैसे और वोह अब खामोस होकर बैठ गए .

क्रिकेट match fixing से देश का क्या नुक्सान है ?

और इस क्रिकेट मैच से हामरे देश में इतना कबाड़ा किया है की हमारे कृषि मंत्री क्रिकेट के अलावा कुछ करता ही नहीं है .अच्छा तोह यह होता की उसको क्रिकेट मंत्री बाना देते .इधार किशन मर रहे है भूख से ,कोई आत्म्यहत्त्य कर रहा है और उधार कृषि मंत्री को क्रिकेट से फुरसत ही नहीं मिल राहा है .पहले bcci का अद्क्ष्य अब अंतराश्त्रियो का अद्क्ष्य इसीके लिए आगर मजा है तोह छोर ही दीजिये ना कृषि मंत्री के पद से और जाइए क्रिकेट में .हमें क्यों तकलीफ दे रहे हो?हामने तोह गलती कर दिया उन्हें कृषि मंत्री बानाकर बैठाया और उनके हाथ में देश के 70 ,80 cr किशानो का भाबिस्यत तय करने के लिए और उसके पास क्रिकेट से बाहार निकलने के लिए फुरसत ही नहीं है .और सरकार भी इतनी कमजोर और लाचार है जोह की उसके jaiga पे दुसरे को नहीं बैठा सकता है .और यह क्रिकेट मंत्री क्यों बनी और इससे क्रिकेट में इतना रूचि क्यों आया ?हर एक बड़ा नेता क्रिकेट का अध्ययक्ष बन रहे है क्यों की इसमें पैसे है .

Cricket के सारे match fixing रहता है जानिए बिस्तार से

 

क्यों की इसमें हाजारो करोर का कारबार है .इसीलिए सबके तैयार रहता है वोह जाने के लिए .और सबसे खाराप बात यह है की यह क्रिकेट मैच गुलामी का खेल है .अंग्रेज आये तोह क्रिकेट को लेकर आया .जाहा जाहा अंग्रेज गए है वोही क्रिकेट गया  जैसे भारत ,पाकिस्तान ,newzilend,sa. ऑस्ट्रेलिया ,बांग्लादेश ,श्रीलंका  यह सब  देश अंग्रेज का गुलाम है .जोह देश अंग्रेजो का गुलाम नहीं है वोह कोई क्रिकेट नहीं खेलता है .आप  चाइना में देख लीजिये क्रिकेट नहीं है ,जापान में नहीं है ,कोरिया में नहीं है क्यों की उनलोग बुद्धिमान है इसीलिए उनलोग क्रिकेट नहीं खेलता है .जोह भी देश होसियार है उनलोग कभी क्रिकेट नहीं खेलता है और ना ही कभी क्रिकेट मैच देखता है .क्यों की उन्ल्गो को पता है इसमें देश का कितना बड़ा नुक्सान है और कोण 8/8 घंटा कोण समय बर्बाद करेगा वोह भी बड़ी धुप में पागलो के तरह खाडे रहकर क्रिकेट के मैदान में क्या क्या मिलनेवाला है ?आपको क्या मिलता  है मुझे आभितक कुछ समझ में नहीं  आया की आप क्यों इतना मन लागाकर क्रिकेट match fixing देखते रहते हो .चलिए मान लेते है जोह लोग खेल रहे है उन्हें उसके बदले में पैसा मिलता है इसके लिए वोह इतने महनत करते है .लेकिन आप क्यों फोकट में महनत करने के लिए रेडी है .और ऐसे मुर्ख लोग भी भारत में मजूद है जिसके उदहरण में एक छोटा सा स्टोरी के माध्यम से बाताना चाहूँगा जोह की एकबार में किसी दोस्त के घर गया था और वोह दोस्त माराठी परिबार से है और उनके फॅमिली में उनके पिता और उनके माता और वोह खुद और उसके एक बहन है .और आपको बता दू की मराठी में पिता को बाबा कहते है .

और में जब उसके घर गया तब मेरे दोस्त और उसके पिता मिलकर क्रिकेट मैच देख रहा था ,पता नहीं उस समय भारत का या किसका मैच चल राहा था .और उस टाइम सायेद कोई खिलाडी ने छक्का लागाया है और साथ ही साथ मेरा दोस्त चिल्लाने लागे है बाबा  छक्का  बाबा छक्का और मुझे यह सुनकर बहुत शर्म आने लागे और में मेरे दोस्त से काहा की भाई तू क्या बोल राहा है ?तेरा बाबा कबसे छक्का हो गया ?और आप जानते ही होंगे छक्के कोण होता है जोह he और she में से दोनों नहीं होता वोह छक्के होता है जिससे हम shemale या किन्नर बोलते है .और वोह आपने बाबा को ही बोलते है बाबा छके बाबा छक्के .और ऐसे भी बहुत लोग देखे है जोह बोलते है तेंदुलकर आउट हो गया 0 पे आउट हो गया आरे भाई तुम्हे क्या करना है तुम्हे क्या तकलीफ है तेंदुलकर आउट हो गया तोह या फिर वोह 200 रन्स बानाए तोह तुम्हे क्या मिलेगा या फिर तेंदुलकर 100 रन्स बानाया और भारत मैच जीते तोह इससे देश का क्या फ़ायदा होगा ?क्या इससे देश के गरीबी ख़तम हो जाएगा ?क्या इससे देश का भिखारी ख़तम हो जाएगा ?क्या इससे हामारे बीमारी दूर होता है क्या तोह फिर हम क्यों देखते है क्रिकेट के यह मैच वोह भी match fixing वाला .और देश के लिए सबसे नुक्सानदायक बात यह है की जब क्रिकेट मैच होता है तब तब भारत के करीब 10cr लोग जोह की सरकारी पद में काम करने वाले लोग सब tv पे मैच देखने लाग जाते है और वोह चिपक जाते है काम छोरकर .बहुत सारे सरकारियो पद में ऐसे लोग भी है जोह को कोई इन्तेरेस्तिंग मैच के समय तोह ऑफिस से छुट्टी भी ले लेते है क्रिकेट मैच देखने के चक्कर में .और बहुत सारे ऐसे भी लोग है जोह की काम करते वक्त भी एक्टिव रहता है और इससे उससे पूछते रहते है की कितने रन बने है ,कितने विकेट गया है  ऐसा पागलो के तरह हलकट करते रहते है .और ऐसे फालतू अंग्रेजो के गुलामो के खेल को क्यों हम देख रहे है और बच्चे को बर्बाद कर रहे है .

क्रिकेट से जुड़े हुए कुछ आनोखी काहानी

दोस्तों यह क्रिकेट तोह भारत का खेल है नहीं वल्कि यह अंग्रेजो ने लेकर आया था भारत में .और वोह क्रिकेट को भारत में क्यों लाया था उसके पीछे भी कुछ तोह कारण जरुर होगा तभी तोह लाया गया है .क्यों की अंग्रेज  इतना मुर्ख नहीं है जोह की कोई भी काम करे और उससे फ़ायदा ना हो ,तोह उसके पीछे कोई ना चाल और साजिस रहता ही है .भारत में क्रिकेट लाने का असली कारन यह है की भारत में राजाओ के साथ वोह मैच खेलते थे और जादा से जादा लोग उसमे हार जाते थे ,क्यों की अंग्रेज एक्सपर्ट थे इस खेल के और हमें तोह आता नहीं था .तोह अंग्रेज उस वक्त शर्त यानि की बेटिंग लागाकर खेलते थे जैसे किसी राजा से मैच हो राहा है और उसमे यह शर्त है की राजा हारेगा तोह उसका राज्ज्यो अंग्रेज ले लेगा .और राजा जीतेगा तोह उसके राज्ज्यो में अंग्रेज चले जायेंगे और वोह से अंग्रेज निकाल जायेंगे  और इसी तरह के शर्तो लागाकर मैच चलता था .और जादातर राजा क्रिकेट के मैच हारते थे और उनका राज्ज्यो अंग्रेजो के कब्जो में चले जाता था .और अन्ग्रेजियो के राजा ने भारत के राजाओं के हाथ में bat दे दिया और उनका पूरा राज्ज्यो को कब्ज़ा कर लिया .और बड़े बड़े खानदान भी इस क्रिकेट के चक्कर में गुलाम बने रहे है .

दोस्तों मुझे उम्मीद है की यह जानकारी आपको पसंद आएगा और इस पोस्ट को पढने के बाद आप कभी क्रिकेट मैच देखकर आपना कीमती समय बर्बाद नहीं करोगे और साथ ही आपने परिबारो को  भी सलाह देंगे की क्रिकेट मैच देखकर अपना समय ना गाबाये .और इस पोस्ट से जुड़े हुए कोई भी सुझाब रहेगा तोह आप मुझे कमेंट करके बाता सकते है .और इस उपोयोगी जानकारी को अपने द्सोतो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी क्रिकेट मैच की असलियत पाता चले और इससे बाहार निकल सके .और ऐसे ही नए नए पोस्ट हर दिन आपके मेल बॉक्स में प्राप्त करने के लिए internet sikho को subscribe करना ना भूले .क्यों की सब्सक्राइब करने से जोह भी पोस्ट यहाँ अपडेट होगा वोह आपके मेल बॉक्स में मिलते रहेगा और आप उससे आसानी से कभी भी पढ़ सेकते है .

SHARE
Previous articleFacebook Account में facebook privacy कैसे ऐड करे ?
Next articleभारत को आजादी कैसे मिला था?आजादी से जुड़े कुछ बाते

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम मिथुन है ,और में वेस्ट बंगाल से हु ,और जब के लिए फिलहाल मुंबई में रहता हु .और यह वेबसाइट को मैंने 2016 में बानाया हु.और मुझे इस वेबसाइट का बानाने का मकसद यह है की लोगो को इन्टरनेट के माध्यम से हर एक तरह के जानकारी देकर उनका मदत कर सके ,और इसीलिए में इस वेबसाइट का नाम internetsikho.com राखा है.और इस साईट में आपको latest internet से जुड़े हुए tips ,tricks ,social tricks ,indian history ,share market basic tips ,technical analysis ,love tips.motivation story,love story,love tips, mumbai darshan,lifestyle,blogging से जुड़े हुए हर तरह के जानकारी हिंदी में दिया जाता है.और मुझे उम्मीद है की आपको इस साईट में दिए हुए जानकारी से हरदिन कुछ ना कुछ नया सिखने और जानने को मिलेगा .और कृपया करके आपके दोस्तों के साथ भी इस साईट के बारे में बाताये और ऐसे हामारे साथ बने रहे ,और हरदिन कुछ नया जानते रहिये और सीखते रहिये क्यों की सिखने का नाम ज़िन्दगी.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here