हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिरसे आप सभीको Internetsikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों यह डिजिटल दुनिया में pati patni के बिच में बहुत लढाई झगडा और भी ना जाने क्या क्या चलते रहता है आपस में.लेकिन इसके पीछे क्या कारन है यानि की किसके वजह से यह होता है यह कोई समझने की कौशिश भी नहीं करता है.इसीलिए में थोडा इससे और गंभीर में समझने का कौशिश किया हु.और जितना तक पाता चला है की pati patni के रिश्ते से बाढकर और कोई रिश्ते नहीं होता है और इस रिश्ते सिर्फ एक दुसरे के उपर भरोसा के उपर ही टिके रहता है .और जोह दंपत्ति येह्सब के बारे में एकबार समझ  उनके रिश्ते में कभी लढाई झगडा नहीं आएगा.तोह चलिए थोडा और गंभीर से आपको बाताते है की pati patni के रिश्ते कैसा होना चहिये जिससे आप दोनों के बिच कभी लढाई झगडा ना हो.

जीबन में पति पत्नी का रिश्ता कैसा होना चाहिए?

दोस्तों मेने काफी सारे pati patni के मुह से यह बात सुनने को मिलता है की मेरा पति मुझसे पयार नहीं करता है,मेरा पत्नी मुझसे पयार नहीं करती है,तोह में उनलोगों को एक ही बात कहना चाहूँगा की आप जोह भी आपने  पत्नी के बात एक दुसरे को  बाताते रहते है इससे क्या फायदा है?उससे आछा आप थोडा आपना दिमाग शांत करके सोचिये की आपने अन्दर होने वाले लढाई झगडा दुसरे को बाताने ना की कोई फायदा है वल्कि नुक्सान ही है.और अगर आपलोगों के दिल में एक दुसरे  के लिए यह  सोच राखते है की मेरे लिए उसके दिल में कोई पयार नहीं है.तोह में आपको बाता दू की यह तोह सिर्फ और सिर्फ एक काहाबत है जोह की   सुनने में ही आछा लागता है,बाकी देखा जाए तोह इस बात पे कोई रियलिटी नहीं है.क्यों की कोई भी pati patni बिना पयार के हो ही नहीं सकते है चाहे वोह कोई भी दंपत्ति हो.

जीबन में पति पत्नी का रिश्ता कैसा होना चाहिए?

और फिर भी अगर आपको मेरे बातो में एकिन नहीं हो राहा है तोह कोई बात नहीं.में आपको इसी बात का एकिन दिलाने के लिए इस पोस्ट को लिखने जा राहा हु.और साथ में एक काहानी भी शेयर करूँगा जिससे आप आसानी से समझ सकते है pati patni के रिश्ता को.और यह काहानी एक मजेदार गेम के साथ जुड़े हुए है.चलिए फिर काहानी शुरू करते है.

एक गाँव में एकबार एक बुजुर्ग ने एक पार्टी का आयोजोन किया था जिसमे सारे society members को invites था.तोह आप जानते ही है की आजके दिन में सबके बिजी लाइफ में किसीके पास जादा मुफ्त समय नहीं होता है.और जादातर पति को तोह ऑफिस में ही समय निकालना पढता है.तोह लोगो के यह सारे असुबिधा को देखकर सोसिटी में रातको पार्टी राखा गया है.तोह पार्टी के समय सब उपस्थित हुए आपने परिबार के साथ.और जिन्होंने इस पार्टी का आयोजोन किया था उसने किसीको बोला की एक बोर्ड लेकर आओ.फिर बोर्ड आगया उसके बाद उस बुजुर्ग ने सबको बोला की देखो हम सब आपने आपने बिजी लाइफ के चलते एकसाथ रहकर भी एकसाथ समय नहीं बिता पाते है.

तोह में एक गेम का आयोजोन किया हु और यह गेम में आपलोगों के साथ खेलना चाहता हु.और गेम यह है की उसने एक बहु को बुलाया बोर्ड के सामने ,और बोला बेटी आप जिससे भी पयार करते है आप इन सारे के नाम इस बोर्ड पे लिख दो और आप चाहे तोह 15 लोगो के नाम भी लिख सकते है.तोह बहु ने लिख दिया पहले आपना पिता,माता,बच्चे,परिबार,पढ़ोसी सबका नाम लिख दिया.तोह बुजुर्ग ने काहा सावास बेटी अब इसमें से ऐसे 6 नाम मिटा दो जिससे तुम थोडा ही पयार करते है.

जीबन में पति पत्नी का रिश्ता कैसा होना चाहिए?

तोह बहु ने थोडा सोचके आपने पढ़ोसीवाले के नाम मिटा दिया.और इससे देखते हुए सारे लोग सोचने लाग गए की यह कैसा गेम चल रहा है यहा?फिर थोड़े समय के बाद बुजुर्ग ने काहा की अब जिससे तुम थोडा और कम पयार करते हो ऐसे 5 लोगो के नाम मिटा दो,तोह बहु ने थोडा घबडा गयी और उन्हें कुछ समझ में नहीं     आरहा था कि अब क्सिके नाम हाटाउ.तोह थोड़े सोचने के बाद उसने आपने परिबार/relatives के 5 नाम मिटा दिया.और अभी सिर्फ 4 नाम ही बाचे थे बोर्ड पे तोह बुजुर्ग ने बोला की बेटी इसमें से 2 नाम और मिटा दो जिससे तुम और थोडा कम पयार करते हो.इससे सुनने के बाद बहु ने रो पढ़ी उससे रोते हुए देखने के बाद बुजुर्ग ने काहा की इसमें रोनेवाली क्या बात है यह तोह सिर्फ एक गेम है.तुम इसमें से 2 और नाम जल्दी से मिटा दो.तोह बहु ने आपने माता पिता का नाम बोर्ड से मिटा दिया.

तोह अब बाचा सिर्फ 2 ही नाम एक अपना बच्चा और एक पति.तोह फिर बुजुर्ग ने बोला इन दोनों में से तुम जिससे थोडा कम पयार करते हो उनका नाम मिटा दो तोह बहु ने बहुत जोर जोर से रोने लागे.और सोसिटी के सरे लोग भी चुप होकर सोच मे पढ़ गए थे की यह क्या हो रहा है.फिर बुजुर्ग ने बहु को काहा की देखो बेटी यह एक गेम है तुम निश्चित होकर एक नाम मिटा सकते है.तोह बहु ने तो रो रोकर बच्चे की नाम मिटा दिया,अब बोर्ड पे सिर्फ एक ही नाम बाचा वोह है पति.

फिर बुजुर्ग ने बहु से काहा की जाओ अब बैठो आपने जायगे पे.और फिर बुजुर्ग ने पूछा बहु से की आप सबको छोरकर आपने पति को ही क्यों सबसे जादा पयार करते है?जिन्होंने आपको जनम दिया आपके माता,पिता उन्सब्को भी छोर दिया आपने ऐसा क्यों?तोह बहु ने काहा की हा में आपनी पिता माता से भी पयार करती हु लेकिन उनलोगों का उम्र हो चुके है और कभी भी मुझे छोरकर जा सकते है.तोह बुजुर्ग ने काहा की सावास बेटी.और फिरसे बुजुर्ग ने काहा की जिन्हें तुम जन्म दिए हो आपने बच्चे को कैसे छोर दिए?फिर बहु ने काहा की में आपने बच्चे से भी पयार करती हु लेकिन आजकल के ज़माने में क्या पाता की हामेशा बच्चे भी आपके साथ दे या नहीं.फिर बुजुर्ग ने पूछा आछा बेटी फिर तुमने आपने पति का नाम क्यों  नहीं मिटाया बोर्ड से ?

जीबन में पति पत्नी का रिश्ता कैसा होना चाहिए?

बहु ने काहा की में आपनी पति से सबसे जादा पयार करती हु क्यों की पति ही होता है पत्नी का अर्धअंग .और मुझे पूरा बिस्वास है वोह हामेशा मेरा साथ देंगे इसीलिए में आपने पति को सबसे जादा पयार करती हु.तोह सारे सोसिटी के लोग उनकी बात पे सहमत होकर तालिया बाजाते रहे है.फिर बुजुर्ग ने काहा की pati patni के बिच पयार को जानने के लिए ही इस गेम/पार्टी    का आयोजोन किया गया था.  जिससे   सबको आपने आपने दंपत्ति में यह एहसास हो सके की हां  दुसरे के प्यार के वजह से ही यह रिश्ता टिके है.

उम्मीद करता हु की आपको यह काहानी पसंद आएगा.और इस पोस्ट को पढने के बाद जरूर  आपलोगो के मन में कही ना  कही एक दुसरे के लिए पयार जातेगा.औ हर एक दंपत्ति एक दुसरे के पयार के बंधन में बांधे रहे  और एक दुसरे को समझे जिससे आपके जीबन खुश्मय रहेगा .और इस काहानी/उपदेश से जुड़े हुए आपके मन में को सावाल रहता है तोह कृपया करके हमारे साथ जरुर शेयर करे…धन्यबाद.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.