हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिर से आप सभीको internet sikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों कुछ ही साल पहले की बात है की गूगल ने आपने google talk सेवा को बंध करने जा रहे है.साथ ही यह भी खबर आया था की google talk बंध होने के बाद उनके उसेर्स को hangouts के साथ जुडेन का बात चित चल रहा है.और finnaly google talk बंध हो ही गया है,और उसके जितने सारे users था सब hangouts का इस्तेमाल कर पायेगा.क्यों की आपको पाता होगा की google के पास ऐसे बहुत सारे मेस्सेगिंग  एप्लीकेशन मजूद है. और आज में आपको बाताऊंगा क्यों गूगल ने google talk को बंध किया था?इसके पीछे क्या कारन है ?पूरी जानकारी पाने के लिए यह पोस्ट को पूरा पढ़े.

Google talk बंध होने का क्या कारन था?

google talk बंध होने  के बाद google talk users को क्या होगा?

दोस्तों आपको बाता दू की जोह लोग पहले google talk का इस्तेमाल कर रहे थे उनलोग google talk जैसे दिखने वाला समे एप्लीकेशन गूगल hangouts का इस्तेमाल कर सकते है.और गूगल का मानना है की google टक  से भी बेहतर है गूगल hangouts के फीचर ,जिसमे आपको विडियो कलिंग का भी सुबिधा मिलता है. इसके अलावा और भी बहुत कुछ फीचर जैसे hangouts meet,hangouts chat जैसे काफी बेहतर features आपको hangouts में दिया गया है.और गूगल ने  गूगल के गूगल टक   सेवा के बंध करने का कारन यह बाताया है की आजके दिन में google talk से जादा fetaures hangouts में राखा गया है और इसी वजह से ही कंपनी ने गूगल टॉक को बंध करने का फैसला लिया है.

 

दोस्तों यह था आजका छोटा सा एक जानकारी जोह की हर एक google talk users के लिए महत्त्यापुर्नो है.और इस जानकारी को आपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे.और कोई भी सावाल रहेगा तोह आप मुझे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.और ऐसे ही  हर दिन नए  नए जानकारी आपके मेल बॉक्स में पाने के लिए internet sikho को सब्सक्राइब करना ना भूले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.