LOCKDOWN KYA HOTA HAI?LOCKDOWN KI PURI JANKARI HINDI MEIN

LOCKDOWN KYA HOTA HAI?LOCKDOWN KI PURI JANKARI HINDI MEIN

हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिरसे आप सभीको Internetsikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों अभी कुछ महीनो से पुरे देश में LOCKDOWN लागु हैऔर यह LOCKDOWN देश परिस्थिति को देखते हुए तय किया जाता है.और इस समय हम सभीको LOCKDOWN के बारे में जानना बहुत जरुरी है.जैसे LOCKDOWN क्या होता है?और किस कानून के तहत LOCKDOWN को लागु किया जाता है?और देश में LOCKDOWN लागु होने से सरकार/लोगो के उपर क्या क्या प्रभाब पड़ता है?.और क्या क्या चीजे बंध हो जाता है और क्या चीजे खुला रहता है ?तोह आज हम इस पोस्ट में LOCKDOWN के बारे पूरी जानकारी बिस्तर से आपके साथ शेयर करने जा रहे है.तोह कृपया करके आप भी पुरे पोस्ट को पढ़े.

CURFEW और LOCKDOWN में क्या फर्क है?

बहुत सारे लोगो के मन में यह confusion देखने मिल रहा है इस LOCKDOWN और cerfew को को लेकर.और बहुत  सारे लोगो ने तोह दोनों एक ही सहज समझ रहे है .इसलिए पहले में आपको LOCKDOWN और curfew के अंतर बता देते है जिससे आपको आसानी से समझ आये.

CURFEW  क्या होता है?

CRPC  की धारा 144 के तहत cerfew लागाया जाता है.और इस धारा को लागु करने के लिए district megister एक notification जारी करता है .और जिस जायगा पार भी यह धारा लागू लागता है वोहा एकसाथ चार या फिर उससे जादा लोग एक खट्टे नहीं हो सकता है.और अगर कोई धारा 144 का पालन नहीं करता है यानि की इसको तोड़ता है तोह उसके बिरुद्ध indian criminal code section 188 के तहत case फाइल किया जाता है.जिसमें  उससे 4 माहीने की कायेद या फिर जुरमाना या फिर दोनों ही साजा हो सकता है.

LOCKDOWN KYA HOTA HAI?LOCKDOWN KI PURI JANKARI HINDI MEIN

LOCKDOWN क्या होता है?

LOCKDOWN को महामरी रोग अधिनियम के उपर 1987 के तहत लागू किया किया गया है.और यह अधिनियम पुरे भारत पार लागू होता है .इस अधिनियम के इस्तेमाल किसी भी बिक्लांग समस्या यानि rare problem के दोरान होता है.जब केंद्र और राज्य सरकार को लागता  है की यह कोई संकट जनक बिमारी देश या राज्य में आ चुका है.और देश के सभी नागरिको तक पहुच रहा है और राज्य और केंद्र दोनों इस अधिनियम को लागू कर सकते है.और इस अधिनियम में 4 धाराए है.जिसमे सरकार को संपूर्ण अधिकार दिए गए है.इस अधिनियम का ACT 2 राज्य सरकार को कुछ खमता दिया जाता है .इसके तहत केंद्र और राज्य सरकार बिमारी को रोकने के लिए सामायिक कुछ guidelines बाना सकते है .सरकारे ऐसे सभी नियम बाना सकते है जोह बिमारी को रोकने में कारगर काम्य हो.इस act के section 2  में राज्य की सरकार उनके राज्य के लोगो के chekup कर सकते है.और जोह लोग किसी भी तरह का travel करके आरहे है उनके लिए सरकार किसी भी तरह के process का इस्तेमाल कर सकते है.इसी act के section 3 में बाताया गया है की इस act के तहत जोह भी rules और regulations को तोड़ता हा या नहीं मानता है तोह उसके खिलाफ indian criminal code section 188 के तहत case file किया जाता है .जिसमें उन्हें साजा और जुरमाना दोनों हो सकता है.और इस महामारी रोग और अधिनियम के तहत सभी राज्य में 14 दिन का LOCKDOWN पालन करने का आदेश दिया गया है.

 

LOCKDOWN में क्या चीजे खुला रहता है और क्या चीजे बंध रहता है?

आपको बाता दू की LOCKDOWN एक administrator order होता है .इसमें जनता से आपने घरो में रहनेका अनुरोध किया जाता है.इसमें जरुरी सेवाओ के अलावा साड़ी सेवाए बंध कर दिया जाता है.दफ्तर,दुकाने,फैक्ट्री,और transport के काम सारे बंध कर दिया जाता है.जितना हो सके उतना कर्मचारी से आपने घर से ही काम करने का आदेश दिया जाता है.publice places जैसे मल,जिम,स्पा,sports club ,सारे धार्मिक आयोजोन बंध रहेगा.साथ ही साथ सारे दुकाने,resturent/school,traning center सब बंध रहेगा.अंतिम संस्कार में 20 से जादा लोक एक साथ नहीं जा सकते है.

इस LOCKDOWN सीजन में कुछ जरुरी सेबाये हामे मिलता है.जैसे police,hospital,telicom,medical store .bank,atm,बिजली,पानी ,फल ,सब्जी ,grocery,meat,मछली ,डायरी राशन इन सारे सेवाए चालू रहेगा.indian criminal code धारा 269/270 के अधिनियम के अनुसार इन्फेक्शन को फेलाना एक दंडनीय अपराध है .police 157 के तहत fir दर्ज कर सकते है.अगर किसी पार यह धारा लागता है तोह उससे 2  साल तक के कार्बाई की साजा हो सकता है.और अगर किसी इंसान  के शारीर में  इस वायरस का इन्फेक्शन है और वोह जान बुझकर किसी दुसरे इंसान के जादा सम्स्प्रण में आते है और इन्फेक्शन को फेलाने का प्रयास करता है तोह उनके उपर भी 2 साल तक का साजा हो सकता है.तोह कुल मिलाकर LOCKDOWN का मतलब यह है की सारे जरुरी चीजे/सेवायो को छोड़कर सब सेबाये LOCKDOWN में बंध रहता है.

दोस्तों इस पोस्ट में मैंने आपको LOCKDOWN के बारे में बाताये है जिसमे आप आसानी से समझ सकते है की LOCKDOWN किस अधिनियम से देश में लागू किया जाता है.और इसमें क्या क्या सेवाए मिलता है उर क्या क्या सेवाए बन्ध रहता है.उमीद करता हु आपको यह जानकरी से पसंद आया है.इस जानकरी से जुड़े हुए आपके मन में किसी भी तरह के सावाल/सुझाब रहता है तोह आप निचे कमेंट box का साहारा लेकर मेरे साथ शेयर कर सकते है.धन्यबाद.

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम मिथुन है,और में इस वेबसाइट को 2016 में बानाया हु.और इस वेबसाइट को बानानेका मेरा मूल मकसद यह है की लोगो को इन्टरनेट के माध्यम से हिंदी में इन्टरनेट की जानकारी प्रदान करना.इसीलिए इस वेबसाइट का नाम Internetsikho राखा गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.