हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिर से आप सभीको internet sikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों आज में आपको बाताने वाला हु की Ltcg यानि की Long Term Capital Gain Tax के बारे में क्यों की पिछले कुछ दिन पहले  यह Ltcg टैक्स हामारे stock market के उपर लागा दिया गया है.और यह ltcg जोह tax है वोह करीब 14 साल बाद इस tax को लागू किया गया है.2004 में जब यह  ltcg tax  को हाटाया गया था और stt टैक्स को लाया गया था.अब फिर से ltcg को दोबारा लाया गया है.

ltcg tax क्या है?और ltcg टैक्स मार्किट के उपर क्या असर पड़ेगा?

सबसे पहले आपलोगो को बाता दू की Ltcg का मतलब होता है Long Term Capital Gain Tax.तोह चलिए पहले थोडा समझने के कौशिश करते है की यह Ltcg tax क्या होता है?आपको सरल उदाहरन के साथ बाताने जाये तोह कोई भी  stock आगर  1 साल यानि की 365 दिन के उपर आपके portfolio में रहता है,और उस समय सीमा के बाद आप उस stock को बेचते है तोह उसपे कोई भी tax नहीं देना होता है,क्यों की 365 दिन के उपर जोह भी stock आप hold करते है वोह  Ltcg यानि की Long Term Capital Gain Tax के अन्दर आजाता है वोह stock और उसमे आपको  Capital Gain Tax नहीं देना होता है.और 365 दिन के निचे आगर आप उस stock को बेचते है,तब आपको 15% का short term capital gain tax देना पड़ता था.लेकिन अभी इस budget में उस चीज को बदल दिया गया है,और Long Term Capital Gain 365 दिन ही रहेगा ,लेकिन उसके बाद में 10%  टैक्स आपको देना होगा.यानि की अब परिस्थिति यह है की 365 दिन के निचे अगर कुछ बेचते है उसमे आपको 15% टैक्स लागेगा और उससे उपर बेचते है तोह आपको 10% टैक्स देना पड़ेगा.और पहले के जिन लोगो के पास स्टॉक होल्ड राखे है उनके लिए 31 januaray की cutoff date दिया गया है की 31 january तक जोह भी दाम थे जोह भी स्टॉक आपके Long Term Capital gain में आ चूका था उनके उपर आपको कोई tax नहीं देना है उस rate के हिसाब से.उदाहरन के हिसाब से आपको  बाताने जाए तोह  मान लीजिये किसी भी स्टॉक में 31 january में जोह रेट था और उसके बाद आनेवाले दिनों में उस स्टॉक के रेट उपर जाता है तोह उस उपर के रेट के उपर आपको Capital Gain Tax देना होगा,लेकिन उस दिन तक के जोह रेट था उस रेट पे आपको कोई Capital Gain Tax नहीं देना है.

Ltcg tax एक आम आदमी के लिए कितना असर पढ़ सकता है?

दोस्तों अब हाम थोडा समझ लेते है की Long Term Capital Gain का हामारे जैसे आम लोगो के के लिए क्या असर दिख सकता है?लेकिन मुझे ऐसा लागता है की हामारे जैसे लोगो के लिए कोई असर नहीं पड़ेगा.capital gain tax अगर आप देते है तोह वोह आपनी कामाइ के बाद ही देते है,अगर आप कामाइ ही नहीं करते है तोह आप capital gain tax काहा से देंगे.और इस मार्किट में बहुत गिने चुने लोग ही होंगे जोह की अच्छा कामाई कर रहे हैऔर उन्हें इस tax को देने के लिए सोचना है,हामारे जैसे आम आदमी के लिए Ltcg से जादा डरने की कोई बात नहीं है क्यों की यह टैक्स तभी देंगे ना जब हाम इस मार्किट से जादा रकम में कामाइ करेंगे .

 

और आप अगर इस मार्किट से कामाई कर रहे है तोह आपको 10% टैक्स देने में कोई भी दिक्कत नहीं आना चहिये.मुसीबत सबसे जादा तब आएगा जब बाहार के investors के उपर और fiis को और जोह भारत के investors के उपर जिनके पास भारी रकम के funds है उनको दिक्कत आ सकता है क्यों की उनलोगों इसीलिए दिक्कत आएगा क्यों की आजतक उनलोग कोई भी tax नहीं देता था और उनके पास एक और option भी है की वोह कही और देश में जाकर invest करेगा इससे हमारे देश के equity मार्केट में वॉल्यूम थोडा ghat सकता है.और इंडियन मार्केट में जोह बाहार का पैसा आता था वोह आना कम हो जाएगा क्यों की उस पैसे के पास में 2 आप्शन मजूद है एक तोह जरुरी नहीं है की उनको भारत में ही पैसा निवेश करना है क्यों की उनके पास पूरा बिस्स्य मजूद है जाहा वोह पैसा लागा सकता है.दूसरी चीज भारत में ही वोह अगर पैसा लागाना चाहता है तोह उसका भी solution मजूद है क्यों की भारत के कुछ स्टॉक्स/इंडेक्स  singapore,दुबई जैसे हर एक देशो में ट्रेड हो राहां है.

तोह अगर वोह दुबई के अन्दर पैसा लागाते है भारत के मार्किट में तोह उसको वोहा कोई भी टैक्स नहीं देना है.लेकिन अगर वोही पैसा वोह भारत में लागाते है तब उसको tax देना है,तोह वोह पैसा वोह यहाँ नहीं लागायेगा उससे भारतीयों मार्किट में वॉल्यूम कम हो जाएगा,मार्किट की depth कम हो जाएगा और हामे अहसास भी होने लागेगा की स्टॉक के अन्दर जादा उतार chadhab नहीं हो राहा है और वोहा पार आपको बहुत जादा मुनाफ़ा भी नहीं मिल राहा है.यह प्रॉब्लम उनलोगों के लिए जादा है जिनको जादा quentity में खरीदना होता है या फिर जादा quentity में बेचना होता है तभी उनको मार्किट में वॉल्यूम की जरुरत पढता है.अगर वोह कोई stock खरीदना चाहता है बड़े quentity में तोह सामने बेचने वाले लोग भी चाहिए हामे.और अगर में कोई स्टॉक बड़े quentity में बेचना चाहता हु तोह उस समय हामे खरीदने वाले भी चाहिये होता है.और उस समय मार्किट की depth ख़तम हो जाता है तोह हामारे मार्किट में return जादा उम्मीद नहीं कर सकते है.

तोह दोस्तों यह था ltcg यानि की Long Term Capital Gain Tax से जुड़े हुए कुछ सिंपल बाते,और मुझे उम्मीद है की आप इस पोस्ट से ltcg टैक्स के बारे में समझ सकते है.और आपके दिमाग में अगर ltcg टैक्स से जुड़े कोई भी सावाल है तोह आप मुझे निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बाता सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.