न्यू Married Life में सुखी रहने का कुछ टिप्स

1

हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिर से आप सभीको internet sikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों न्यू Married Life सुखमय राखने के लिए कुछ टिप्स के बारे में बाताऊंगा.जादातर देखा जाता है की बहुत सारे लोग आपने बैबाहिक जीबन में खुश नहीं रहते है.शाधि से पहले 1,2 साल तोह सब ठीक चलता है मगर उसके बाद से पति पत्नी के बिच आये हरदिन भ्यासबाजी चलते रहता है और इसके वजह से ही उनका रिश्ता ,रिश्ता ना रहकर एक समझोता बनकर रह जाता है और जिसकी  वजह से ही पति पत्नी सिर्फ लोगो को दिखाने के लिए खुस रहते है मगर अन्दर दिल से कभी खुस नहीं रह पाते है.और येह्सब परिशानियो को देखते हुए ही मे   कुछ जरुरी पॉइंट्स के बारे में बाताने वाला हु और आप आगर यह पॉइंट्स को  ध्यान में रखेंगे तोह आपके Married Life सुखमय रहेगा.

न्यू Married Life में सुखी रहने का कुछ टिप्स

पति पत्नी का रिश्ता एक दोस्त के तरह होना चाहिए

दोस्तों इसमें पति पत्नी के रिश्ता दोस्त के तरह रहना चाहिए इसीलिए बोल राहा हु क्यों की सच्ची दोस्त का रिश्ता एक ऐसा रिश्ता होता है जोह  की एक दुसरे को आछी तरह से समझते है और इसीलिए मेरा मानना है की आगर बैबाहिक जीबन में भी पति पत्नी एक दुसरे को पति पत्नी कम और दोस्त जादा समझे तोह उनके रिश्ते में ज़िन्दगी की किसी भी मोड़ में कभी भी थोडा सा भी परिसानी नहीं आएगा क्यों की दोस्त एक दुसरे के बारे में आछी तरह से  समझते है.और पति पत्नी के बिच सच्ची रिश्ता होने से वोह बात भी एक दुसरे से बड़े आराम से शेयर कर पाएंगे की जोह बात पति पत्नी किसी अंजाने से डर की वजह सीक दुसरे से शेयर नहीं कर पाते है.पति पत्नी के बिच दोस्ती का रिश्ता होने से उनकी ज़िन्दगी प्यार ,केयर ,और हासी मजाक में काटते रहेगा की उन्हें अपने बुढ़ापे तक भी पाता नहीं चलेगा की कब उनका रिश्ता यहाँ तक बड़े आराम से कट गया.

न्यू Married Life में सुखी रहने का कुछ टिप्स

पति पत्नी के रिश्ते में में में करके नहीं वल्कि हम एक दुसरे के साथ बनकर रहना चाहिए 

दोस्तों में एक ऐसा शब्दों है जोह की आगर उसी पार ज़िन्दगी में चला जाये तोह एकदिन आप तोह रह जायोगे मगर आपका में में होकर भी में में नहीं रह पायेगा.आगर पति पत्नी हामेशा आपने रिश्तो में में में ही करते रहेंगे तोह वोह कभी हम नहीं बन पायेंगे क्यों की मे में के चक्कर में अकसर जादातर बात बिगड़ जाता है और हम के चक्कर में बिगड़ी हुयी बात हामेशा बन जाती है.इसीलिए आपने Married Life में जितनी हो सके उतना यह कौशिश करे की आपके रिश्ते में में में की कोई वैल्यू ही ना रहे और आपके हर झगडे में में नहीं बोलकर हम पार आकर ख़तम हो.में में करके और सोचकर झगडा कभी कह्तम नहीं होगा लेकिन हम का सोचकर झगडा शुरू होने से पहले ही ख़तम हो जाता है.

एक दुसरे ने पहले क्या क्या किया वोह ना देखे आभी क्या करना है वोह देखे

आगर Married Life में पति पत्नी को आपने पुराने दिन में क्या क्या किये है आगर आप कुछ जानते भी है तोह उसके बारे में ना सोचकर आभी आपके जीबन में क्या करना है वोह देखे क्यों की आपके साथी आपके साथ में है ना की पास्ट के साथ है.इसीलिए हामेशा यह सोचना चाहिए की पास्ट हामेशा पास्ट ही रह जाता है और प्रेजेंट हामेशा future बानाता है .और आगर आप यह सोचेंगे की आपका जिबंसाथी पास्ट में कैसा था और उससे आगर आप गुस्सा या दुखी होयोगे तोह उसका मतलब है की आप खुद ही आपने पेरो तलंग मार रहे हो.आगर आपने जिबंसाथी के बारे में सोचना ही है तोह यह सोचो की प्रेजेंट में वोह आपके साथ कैसा है और किस तरह से आपके प्रतिपुर्नो समर्पित है.

पति पत्नी के बिच किसी भी बात पे झगड़ने से गुस्से में ना रहकर शांति से उससे सुलझाना चाहिए

दोस्तों हामारे Married Life में पति पत्नी के बिच एक दुसरे से किसी भी बात पार गुस्से में झगड़ते ही है.और झगडा होने पार दोनों ही आगर लागातार झगड़ते रहे तोह बात बिगड़ सकता है,इसीलिए पति पत्नी दोनों को यह सोचना चाहिए की जब झगडा बहुत बड़ा लागने लागता है तब उनमे से किसी एक को शांत रहना चाहिए.अब बात यह भी आता है की पहले शांत कोन होगा और कोन पहले झगडा ख़तम करे?ऐसे समय में पति पत्नी को यह  देखना चाहिए  की उनमे से कोण झगडे को जादा बढ़ा राहा है.जोह झगडे को जादा बढ़ा राहा है उससे आपने गुस्से पार ही छोर दीजिये और दूसरा आपने गुस्से पार काबू करके शांत हो जाइए फिर चाहे वोह दूसरा आपनी बात पार सही ही क्यों ना हो ,जब एकजन झगडा ख़तम करके शांत हो जाएगा तोह उसके कुछ ही देर बाद ही दूसरा भी शांत हो जाएगा .शांत होने के बाद एक दुसरे से सिम्पली बात करे और समय आने पार आछे से मुड में बड़े प्यार से उस बहस के मुद्दे पर बात करे.ध्यान राखे प्यार से बात करने से वोह झगडे हामेशा के लिए ख़तम हो जाएगा और तब भी ख़तम ना हो तोह आपकी भालाई इसी में है की जब भी वोह झगड़ने वाला बात करते है उस बात को आप ना सुने.

न्यू Married Life में सुखी रहने का कुछ टिप्स

Married Life में पति पत्नी के अलाबा तीसरे किसका जादा परवा ना करे

दोस्तों आजके दिन में हामारे Married Life में पति पत्नी के बिच कोई तीसरा ऐसा बेकती आता है जिन्हें हाम आपना ख़ास दोस्त या हमदर्द मानने लाग जाते है ऐसे में पति पत्नी को चाहिए की वोह उस तीसरे को इतना महत्य्ब ना दे की वोह तीसरा पति पत्नी का बिच झगड़ने का कारण बन जाए फिर चाहे वोह तीसरा बेकती आपके कितना ही क्यों ना खास हो और कितना ही क्यों ना आछे हो.क्यों की आपके Married Life में आपके पति पत्नी के साथ ही जीना है ना की वोह तीसरे का साथ जीना है.इसीलिए उस तीसरे को महत्य्ब देने के वाझई अपने रिश्तो को जादा महत्य्ब दे .ऐसे समय वोह तीसरा यह जान जाता है की उसके वजह से तुम पति पत्नी के बिच जारा से भी झगडा हो रहा है और उसके बबूजूद भी तीसरा तुम्हारे साथ बाना रहे है तोह समझ लेना चाहिए की उस तीसरे का लक्ष्यंन कुछ ठीक नहीं है क्यों की आगर उसका इरादा ठीक होता तोह यह जानने के बाद की उसकी वजह से उन दोनों में झगडा हो रहे है तोह वोह तीसरा खुद हाट जाता था.कहने के बात यह है की आगर ऐसा होता है तोह आप पति पत्नी उस तीसरे को जल्द से जल्द आपनी जिबन से दूर करे इसमें आपके रिश्ते के लिए ही भाला है.

दोस्ती हामारे Married Life में पति पत्नी के रिश्ते को हैप्पी राखने के लिए ऐसे बहुत सारे टिप्स है ,उसमे से जोह अहम् पॉइंट्स है वोह में आपको इस पोस्ट में बाता चूका हु .जैसे मैंने पहले ही बाताया हु की आपके Married Life में रिश्ता भाले ही पति पत्नी का है लेकिन हमेशा आपके रिश्ता एक सच्चा दोस्त के तरह बाना रखे,क्यों की एक सच्चा दोस्ती ही एक दुसरे के बारे आछे से सोच सकते है और समझ सकते है .और आगर आपके पति पत्नी का रिश्ता एक दोस्ताना के भाबनाव में निभायेंगे तोह फिर आपको आपनी साधी सुधा ज़िन्दगी खुशहाल बानाये के लिए किसी और पॉइंट्स  को जाननेका का जरुरत आपको नहीं पड़ेगा.

यह जानकारी आपको कैसा लागा यह मुझे कमेंट करके बाताना ना भूले ,और इसे आपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे ,और हरदिन ऐसे ही एक नए जानकारी आपके मेल बॉक्स में प्राप्त करने के लिए internetsikho को subscribe करना ना भूले.

SHARE
Previous articleMahatma Gandhi जयंती क्यों मानाते है?
Next articleDiwali कब है और Diwali क्यों मानाया जाता है?

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम मिथुन है ,और में वेस्ट बंगाल से हु ,और जब के लिए फिलहाल मुंबई में रहता हु .और यह वेबसाइट को मैंने 2016 में बानाया हु.और मुझे इस वेबसाइट का बानाने का मकसद यह है की लोगो को इन्टरनेट के माध्यम से हर एक तरह के जानकारी देकर उनका मदत कर सके ,और इसीलिए में इस वेबसाइट का नाम internetsikho.com राखा है.और इस साईट में आपको latest internet से जुड़े हुए tips ,tricks ,social tricks ,indian history ,share market basic tips ,technical analysis ,love tips.motivation story,love story,love tips, mumbai darshan,lifestyle,blogging से जुड़े हुए हर तरह के जानकारी हिंदी में दिया जाता है.और मुझे उम्मीद है की आपको इस साईट में दिए हुए जानकारी से हरदिन कुछ ना कुछ नया सिखने और जानने को मिलेगा .और कृपया करके आपके दोस्तों के साथ भी इस साईट के बारे में बाताये और ऐसे हामारे साथ बने रहे ,और हरदिन कुछ नया जानते रहिये और सीखते रहिये क्यों की सिखने का नाम ज़िन्दगी.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here