AAP AGAR KISIKO MADAT KARTE HAI TOH WOH MADAT KHUD KE LIYE HO JATA HAI

0

हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिरसे आप सभीको internet sikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों आज में आपलोगों को एक ऐसे काहानी के बारे में बाताने जा रहा हु जिससे आप आसानी से समझ सकते है की हम अगर किसीको madat करते है तोह वोह मदत आपने लिए ही होता है.और इस काहानी से आपको यह भी जानने को मिलेगा की आप आगर कभी किसीको मदत करते है और आपके लिए हुए मदत एकदिन आपके पास आता है जब आको मदत की जरुरत होता है.चलिए फिर अब काहानी पे थोडा ध्यान देते है.

दुसरे को मदत करना मतलब खुदका मदत करना

एक गरीब बाछा था जोह की हर घर में जाकर सामान बेचता था तकी उस पैसे से उसके पढाई और स्कूल के खरचे चाला सके.एकदिन उसके पास सिर्फ 1 रूपया ही बाचा,और उससे उससमय बहुत भूक लागा था .वोह एक घर के सामने पहुचने वाला था और उसने सोचा की इस घर में जाकर खाने के लिए कुच्छ मांगू.फिर उसने घर के दरवाजा ख़ट खटाया और तब एक औरत ने दरवाजा खोला.जब उस औरत ने लड़का को एक तरफ देखा तोह वोह समझ गयी की इससे बहुत भूक लागे है.फिर उस औरत ने घर से एक गिलास दूध लाकर उससे पिने को दिया.लेकिन उस लड़के ने दूध पिने के बाद उस औरत से पूछा कितना पैसे हुये? औरत ने काहा की बेटा तू यह खरीद नहीं सकते,क्यों की मुझे मेरी मा ने सिखाया है की कभी गरीब इंसानों से पैसे नहीं लेना चाहिए.फिर लड़का बोला तोह में आपको दिल से धन्यवाद देता हु,और काहा अब में शारीरिक रूप से ही सास्थ्य नहीं हु बल्कि मेरे परमात्मा भी आस्था बड़ी है.

दूध पीने वाले लड़के के नाम howard kelly था.बहुत साल बीत जाने के बाद एकदिन उस औरत की तबियत खाराप हो गयी.स्थानियों डॉक्टर ने उसकी madat नहीं कर पाए.इसीलिए उहोने उससे बाहार के सहर भेज दिया ताकि उसकी बीमारी का सही तरह से इलाज हो पाए.और उस hospital में इलाज के लिए dr.howard kelly को बुलाया गया था.जब वोह उस औरत के रूम में गया तोह उससे झट से उस औरत को पहचान लिया,जिसने उसपर दया किया था जब वोह गरीब था और घर घर में जाकर सामान बेचता था .उस लड़के ने औरत कओ बीमारी से बाहार निकलने के लिए आपना जान से सर्बोस्रेस्ठो करने की निर्णय ले लिया था.उनके परिश्रम लम्बा चाला लेकिन उन्होंने अंत में बिमारी पार बिजय पा लि,कुछ देर बाद उस औरत को hospital के बिल भरने को काहा गया .तब वोह औरत चिच्न्तित हुए क्यों की उनके पास बिल चुकाने के लिए उतने पैसे नहीं थे.उसकी पूरी ज़िन्दगी की कामाई भी इस इलाज के लिए कम था.अंत में जब उस औरत ने बिल को ठीक से देखा तोह उसमे कुछ शब्द पढ़ा जोह की बिल के एक तरफ लिखा हुआ था.और वोहा लिखा हुया था एक गिलास दूध का पूरा भुगतान कर दिया.

दोस्तों हमने इस काहानी से जाना की हम जब किसीको मदत करते है तोह वोह भाबिस्यत के लिए हामारे ही मदत  में आता है.इस काहानी आपको कैसा लागा आप जरुर निचे कमेंट box के उपोयोग करके बाताये.और इस पोस्ट आगर आपको आछा लागा है तोह आप आपने दोस्तों के साथ भी शेयर करने ना भूले.

Previous articleDHAN PREM AUR SAFALATA
Next articleGHAMAND MAT KARIYE CHAHE AAP JOH BHI HAI
हेल्लो दोस्तों मेरा नाम मिथुन है,और में इस वेबसाइट को 2016 में बानाया हु.और इस वेबसाइट को बानानेका मेरा मूल मकसद यह है की लोगो को इन्टरनेट के माध्यम से हिंदी में इन्टरनेट की जानकारी प्रदान करना.इसीलिए इस वेबसाइट का नाम Internetsikho राखा गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.