WHAT OTHERS THINK OF ME BAKI SARE LOG KYA KAHENGE

0

हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिरसे आप सभीको internetsikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों आज में आपलोगों से एक सच्चाई टॉपिक के बारे में बात करनेवाला हु.और मुझे पूरा उम्मीद है की कही ना कही यह topic सबके लाइफ के साथ ही जुड़े होंगे.और ख़ास करके यह टॉपिक जोह है हर एक छात्रो के जीबन का हिस्सा होता है और सबसे बड़ा प्रॉब्लम जोह create करता है वोह यह की बाकी सारे log आपके बारे में क्या कहेंगे?और हर छात्रो येही सोचते है कुछ भी करने  से पहले की exam में मार्क्स अच्छे ना आये तोह log क्या कहेंगे?तोह चलिए इसके बारे में आपको समझाते है  कैसे आप लोगो के सोच के उपर ध्यान ना देकर आपने सोच में   फोकस करे.

लोग मेरे बारे में क्या सोचता है?

log मेरे बारे में क्या सोचता है?यह बात  आता काहा से है?जाहा पे छात्रो रहता है.और कोई ना कोई आपने मन में devolpment किया गया है की हाम खुदके लिए कुछ ना करे दुसरे के लिए करे उन्हें दिखाने के लिए करे.सिर्फ येही दिखाने के लिए हामने यह achived किया है.लेकिन जीबन में कुछ भी गलत हो जाते है तब सबसे पहले यह question उठता है चाहे वोह कोई भी हो parents हो या रिश्तेदार हो या फिर भाई बहन हो.सबसे पहले हाम इस तरह से devolpment हो चूके है और आपने खुद के मन में ही सवाल उठ जाता है की बाकी लोग क्या कहेंगे?

तोह इस चीजो को हामे रोकना होगा येही पे क्यों की आप आपनी जीबन में खुदके लिए जी रहे हो ना की दुसरे के लिए.आप अगर इस चीज के बारे में गहरी से सोचेंगे तोह आप कही ना कही गलत ट्रैक पे चले जायेंगे मतलब आप खुदके लिए काम नहीं कर रहे है खुदको improve करने के लिए काम नहीं कर रहे है आप सिर्फ दुसरे को दिखाने के लिए काम कर रहे है की आप यह कर सकते हो तोह इसमें आपको कोई फ़ायदा नहीं मिलनेवाला  है.इसमें  सिर्फ  आपको short time faide मिल भी गया और कुछ कर भी लिया तोह वोह आपके  short time faide ही रहेगा.और इसमें आप खुस भी तब होंगे जब log आपके काम से खुस होंगे.इसमें होता यह है की काम आपने किये है लेकिन फिर भी आप खुद खुस नहीं हो पाते है.तोह ऐसे काम करके ही क्या फ़ायदा है जिससे करने से हामे खुदको ही खुसी नहीं मिलता है.तोह यह आदत तोह सबसे पहले हामे छोरना पड़ेगा क्यों की जोह काम करके जबतक खुदको खुसी नहीं मिलता है उससे दुसरे लोगो को कबतक खुश करोगे?

लोग आपके क्या कहेंगे उसके बारे में आपको नहीं सोचना चाहिए

दोस्तों एक बात का आपको हामेशा ध्यान में राखना चहिये की कहता वोह log है जोह खुदके जिबन में कुछ नहीं किया जोह सिर्फ ऐसे ही मतलब खाली बैठे हुए है मतलब खुद कुछ achived नहीं कर पाए क्यों की उनके पास समय ही समय है कुछ भी कहते रहो और जिनके पास समय कम होता है वोह कभी कुछ नहीं कहते है तोह इस जीबन में हामेशा आपको याद राखना है की जोह महनत करता है या जिनके पास काम होता है वोह कभी किसीको कुछ नहीं कहते है और वोह हामेशा आगे बाड़नेका प्रेरोना देते है चाहे आप एक सफल इंसान हो या असफल.और अगर आप ऐसे लोगो से मिले है जोह काम करते है या जीबन में कुछ achived किया है उनलोग आपको बढने के लिए कहेंगे ना की कभी यह कहेंगे की यह आपने क्या कर दिया ऐसे क्यों किये इस तरह के बाते.तोह अगर आप भी चाहते है आपने लिए कुछ करने तोह इस चीज को पीछे ही छोर दे तोह आपके लिए बेहतर होगा.जैसे की मैंने पहले ही बाताया है की जिनके पास कोई काम नहीं होता है वोह सिर्फ ऐसे बाते करके आपना समय निकालता है और दुसरे के मन को भटकता है,क्यों की उनलोगों के काम ही यह है की किसीका बुराई करना,किसीके मजाक बानाना इससे उन्हें मजा भी आता है और समय का भी पार हो जाता है.

और ऐसे log अगर आपके faide के बारे में जान जाते है तोह आपको गिराने के भी कोशिस नहीं छोरता है.कोई ना कोई यह हामारे लिए फाइदेमान भी होते है जैसे हाम किसीको दिखाने के लिए वोह achived कर लेते है जोह हाम इसके पहले कभी सोचे भी नहीं थे की हाम यह काम भी आछे से कर सकता हु.लेकिन इसमें आपको ध्यान देना होगा की काहापर यह positive है और काहापार यह negetive है.negetive है तोह वोही छोर दीजिये और positive राहा तोह उससे इस्तेमाल करे.और इस बात को हामेशा आपको याद राखना है की लोग तोह हामेशा कुछ ना कुछ कहते ही रहेंगे उससे आपको जादा टेंशन नहीं लेना है.

example के रूप में में कुछ बाते है जोह की में आपको बाताता हु की जब आपने आपके जीबन में कुछ बड़ा चीजे achived कर लेते है तब log आपको कहेंगे की अरे हाम तुम्हे तोह पहले ही कह चुके थे की तुम कुछ इसीतरह के काम करेगा जिससे तुम्हे सफलता भी मिलेगा अपने जिबन में,और अब तुमने finnaly करके दिखा दिया.और जब आप कुछ achived नहीं कर पाते है तब भी लोग वोही होंगे सिर्फ उनके roles अलग रहेगा और बोलने लागेगा अरे हामने तोह पहले ही तुम्हे बोला था की इस तरह के काम में मत जा यह तेरे बस के बात नहीं है वगेरा वगेरा…

तोह दोस्तों इस topic से हामे सिखने यह मिलता है की जिसको बोलना है वोह तोह बोलेगा ही चाहे अच्छा हो या बुरा.लेकिन बुलवाना आपको है की उसमे से आप किससे चाहते हो अच्छे को या बुरे को.तोह सिर्फ आपने काम पार ही focus राखे,और आगर आपको खुदपे  भरोसा राखते  है की आप जीबन में कुछ कर सकते है तोह बिलकुल भी पीछे मुड़कर ना देखे.किसीको कुछ भी बोलने दो इससे आपके कोई फर्क नहीं पड़नेवला है जबतक आपके काम के उपर फोकस रहेगा.आगर आपके अन्दर confident रहेगा तोह जोह आप करना चाहते है उससे आप जरुर सफलता के रूप से पूरा कर सकते हो.

में उम्मीद करता हु की आपको यह पोस्ट पसंद आएगा,और इससे आपको कुछ ना कुछ सिख भी जरुर मिला है.तोह आपको लोगो के बातो को लेकर क्या कहना है वोह भी आप हमारे साथ शेयर कर सकते है निचे कमेंट box का उपोयोग करके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.