Aise Kuch Karan Jiske Wajha se Hamare Jada Friends Nahi Bante

2
Aise Kuch Karan Jiske Wajha se Hamare Jada Friends Nahi Bante

हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिरसे आप सभीको Internetsikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों आप सब जानते है की दोस्त की संपर्क एक बहुत ही मजबूत और पबित्र होता है.यह संपर्क में कोई भी रक्त बंधन नहीं होता है.एक इनसान सिर्फ आपने इच्छा से दुसरे इंसानों के मन में दोनों के मानसिकता का जब मिल होता है तब एक दुसरे से दोस्ती का रिश्ता बनता है.इंसान के जीबन के आधा से जादा समय सिर्फ परिबार और दोस्तों के साथ में बित जाता है.

ऐसे बहुत सारे लोग होंगे जोह की दुःख करते है की मुझे अबतक कोई अछे दोस्त नहीं मिला.कुछ लोग तोह आपने भाग्य का आरोप लागते है और बोलते है मेरा भाग्य ही खाराप है इसीलिए मुझे अबतक कोई अछे दोस्त नहीं बना.लेकिन क्या आप कभी यह जानने का कौशिश किया है की आपके कोई अछे दोस्त क्यों नहीं है?हो सकता है आपके वजह से ही आपके कोई अछे दोस्त नहीं है.तोह आप भी अछे दोस्त बनाने के तालाश में है अबतक तोह इस पोस्ट को पढ़े इस पोस्ट में आपको ऐसे कुछ टिप्स दूंगा जिससे आपनाके आप आसानी से बहुत सरे दोस्त बाना सकते है.

हमारे आछे दोस्त क्यों नहीं बनते है?

  • खुदको बहुत बड़ा महसूस करना-अगर आप जादा अत्म्यकेंद्रियो पक्रिया के इंसान है और खुदको बहुत बड़ा समझने लगते है तोह आपके लिए अछे दोस्त बानाना बहुत मुश्किल है.और जोह भी दोस्त आपके साथ है वोह सिर्फ आपके अछे दिनो के साथ ही रहेंगे ना की आपके बुरे दिनों के साथ.
  • आप अगर  बहुत स्वार्थपर है-दोस्तों के रिश्ता में स्वार्थपर बिलकुल ही नहीं चलता है.आप अगर हर समय सिर्फ खुद के स्वार्थ के लिए सोचते है तोह तब आपको आछे दोस्त नहीं मिल सकता है.तब आपके दोस्त भी आपके तरह ही उनके स्वार्थ के बारे में ही सोचेंगे.
  • खुदके relation के लिए दोस्त से रिश्ता छोर देना– नए प्रेमिक/प्रेमिका मिलने से दोस्तों को भूल जाना ,या फिर lovers के वजह से दोस्तों के साथ संपर्क बिछिन्ना करना एक बहुत बड़ा गलती है.इसलिए लोगो को जादातर अछे दोस्त नहीं मिलता है.
  • अगर आप बहुत जादा sencitive है– अगर आप सब चीजो में बहुत सेंसिटिव हो जाते है यह आपको दोस्त जादा दिन मान के नहीं चल सकते है.इसलिए सब चीज को जादा सीरियस लेना बंध करे.
  • अगर आप दोस्तों के मर्जादा नहीं रख सकता है– आप अगर किसीके दुर्घोटना के समय छोर के भाग जाते है तोह यह एक कापुरुष का लक्ष्मण है.इस तरह के सोच वाले लोगो के लिए अछे दोस्त मिलना बहुत ही मुश्किल है.
  • अगर आप अपने दोस्तों से जलते है– दोस्तों के साथ अगर जलते है तोह आपके साथ कोई दोस्ती नहीं राखना चाहेगा.क्यों की दोस्तों के साथ कोई प्रतियोगिता नहीं होता है.
  • आप अगर आपके दोस्तों से बहुत जादा उम्मीद राखते  है– आप जैसे ठीक उसी तरह आपके दोस्त भी वैसे.फिर भी आप उनसे बहुत जादा आशा करते है तोह सायेद वोह आपके गलत्फेमी है.इससे दोस्तों के बिच रिश्ता टूट जादा जब वोह वोह आशा पूरा नहीं होता हो.
  • आप  अगर दोस्तों के सामने खुदको बड़ा बनाकर बात करते है-खुदको बड़ा बानानेके लिए दोस्तों को छोटा बानाकर बाते करना यह एक बहुत ही बड़ा गंदे आदते है.इससे हो सकता है आप दोस्तों को छोटा करते है और उससे बुरा लगता है और आपके साथ छोर देता है.इसी वजह से आपके कोई दोस्त नहीं है .
  • आप अगर खुदको बाचाने के लिए दोस्तों को इस्तेमाल करते है-आप अगर स्थिति के अनुसार खुदको सुरक्षित करने के लिए दोस्तों के नाम लेकर बचने का प्रयास करते है तोह सायेद आपके दोस्त आपके उपर बुरा मानकर आपके साथ छोर सकता है.इसी वजह से आपके कोई अछे दोस्त नहि रहता है.
  • आप अगर दुसरे बुराई करते रहते है– आप अगर हर समय दुसरे की बुरे चर्चा करके खुदको एक अच्छा इंसान का पहचान बनाने का प्रयास करते है तोह सायेद आपके दोस्त यह पसंद नहीं करेगा.इसी के कारन आपके दोस्त आपसे दूर हो जाता है.

Aise Kuch Karan Jiske Wajha se Hamare Jada Friends Nahi Bante

 

दोस्तों इस पोस्ट में मैंने आपको बाताया की ऐसे क्या कारन है ज्सिके वजह से आपको Aise Kuch Karan Jiske Wajha se Hamare Jada Friends Nahi Bante.और उस कारन के कुछ मूल पॉइंट्स मेने आपको इस पोस में बाताया है.आप अगर इस कारन को थोडा ध्यान से समझेंगे और मानेंगे तोह सायेद आपके लिए भी  दोस्त मिलना जादा मुश्किल काम नहीं होगा.उम्मीद करता हु आपको यह जानकारी पसंद आएगा और इस पोस्ट से जुड़े हुए आपके मन में किसी भी तरह का सावाल/सुझाब रहता है तोह आप निचे दिए हुए कमेंट box का प्रयोग करके मेरे साथ शेयर कर सकते है.धन्न्य्बाद.

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.