Rohit Sharma Ki Jivan Kahani

Rohit Sharma Ki Jivan Kahani

हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिरसे आप सभीको Internetsikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों आज इस पोस्ट में आपको Rohit Sharma के जीबन काहानी के बारे में शेयर करनेवाला हु.जैसे उनके क्रिकेट के जगत में आने से पहले उनका जीबन किस तरह से बीत रहा था.उन्होंने इस सिखर तक पहुचने के लिए क्या क्या किया उसके बारे में बात करेंगे.और साथ में यह जानेंगे की वोह कहा से है और किस खानदान से है और उनके इस सफलता के पीछे किसका सबसे बड़ा अबादान है.तोह आप भी भारत के इस नमी दामी बल्लेबाज के जीबन काहानी के बारे में जानने को इच्छुक है तोह कृपया करके पूरी पोस्ट को पढ़े.

Rohit Sharma की जीबन काहानी हिंदी में

दोस्तों आजके समय में Rohit Sharma को दुनिया के एक सर्बोस्रेस्ठो बल्लेबाज के रूप में जाना जाता है.इनके पूरा नाम है रोहित गुरुनाथ शर्मा.इस समय Rohit Sharma ने भारतीयों क्रिकेट टीम के लिए T20 और one day में opener बल्लेबाज के रूप में आपना जायगा बना रखने में कायेम है.और साथ साथ भारतीयों टीम के लिए test मैच में भी उसका अबदान कम नहीं रहा.साथ ही साथ  (IPL) यानि indian premier league में mumbai indians टीम  के एक असफल अधिनायक के रूप में भी शामिल है जोह की अम्बानी ग्रुप के टीम है.

Rohit Sharma Ki Jivan Kahani

Rohit Sharma की biography की पूरी जानकारी

Rohit Sharma के जन्म 30 april 1987 को हुआ था.उनके पिता का नाम गुरुनाथ शर्मा है और माता के नाम पूर्णिमा शर्मा है.शुरुवाती जीबन में रोहित के घरवाले के उपर काफी बोज था और बहुत महनत करके उनके घर चलता था.इसी वजह से Rohit Sharma के बचपन उनके दादाजी के घर में बिता,और समय मिलने पार कुछ दिनों के लिए अपनी माता पिता से मिलने आता था.रोहित के बचपन से ही क्रिकेट के उपर आग्रह था इससे देखते हुए उनके चाचा उन्हें क्रिकेट camp में भारती करवा दिया था.उसके बाद  उस क्रिकेट कैंप  के कोच दिनेश लाद ने  Rohit Sharma के प्रतिभा को देखकर उन्हें scholership दिलवाकर उसको एक अच्छा स्कूल  में भर्ती करा दिया.आपको जानकर हेरान होगा आज के दिन में जोह दुनिया के 1 नंबर बल्लेबाज के रूप मे  हमसब Rohit शर्माkको देख रहे हैं लेकिन वो अपना क्रिकेट कैरियर का शुरुवात एक गेंद वाजी के रूप में किया था.लेकिन धीरे धीरे उनेक बैटिंग के उपर प्रतिभा तिखरने लगा और धीरे धीरे बल्लेबाजी में आपना स्थान तय करनेका निर्णय लिया है.

Rohit Sharma के cricket carrier 

Rohit Sharma के बल्लेबाजी को लेकर बहुत बड़े बड़े कोच ने उनके बल्लेबाजी को लेकर चर्चा किया.उसके बाद उन्हें 2005 में देबधर ट्रोफी में सेंट्रल जोन के खिलाफ पश्चिमी खेत्र के लिए उनका चयन हो गया.लेकिन दुःख की बात यह है की उस मैच के दोरान वोह इतना अच्छा प्रदर्शन नहीं दे पाया था.उसके बाद उत्तरी खेत्र के खिलाब खेलते हुए 142 रन की एक दमदार पारी खेला.इस रोमांचक पारी के बाद उन्हें तिस सदस्स्यी सम्भाबित खिलाडियों के सूचि में शामिल होकर उन्हें champions ट्रोफी में खेलने का मौका मिला.

और लगातर अछे खेलने के कारन  2006 में इन्हें newzealand के खिलाफ होने वाले मैच के लिए भारतीयों टीम में चयन किया गया था.और उसी साल में उन्हें रंजि ट्रोफी में भी खेलने का मौका मिला था.शुरुवात में अपना प्रतिभा असफल रहने के बाद भी आगले मैच बंगाल और गुजरात के बिच मैच में दोहरा शतक और उसके आगले मैच में अर्ध शतक लगाकर फिरसे टीम के चयनकर्ता के नजर उनके ऊपर प्रभाबित किया.और Rohit Sharma के लागातार इस तरह के अछे पारी खेलने के बाद उन्हें मुंबई रणजी ट्रोफी टीम के अधिनायक बना दिया गया था.

इस तरह के घरेलु में अछे प्रदर्शन के बाद उन्हें भारत और ierland के बिच होने वाले मैच के लिए चुना गया.लेकिन दुःख की बात यह है की उस मैच में उन्हें बल्लेबाजी करने का मौका ही नहीं मिला था.लेकिन अगले साल 2007 के september माहीने  में जोह T20  मैच था भारत के साथ दक्षिण अफ्रीका के बिच उसमे Rohit Sharma ने शानदार तरीके से अपना अर्ध शतक पूरा करके आपने टीम को जीत दिलाया.और उनके इस शानदार पारी के वजह से ही भारतीयों टीम को semifinal में खेलने का मौका मिला था.

उसके बाद ऑस्ट्रेलिया में भारत के साथ पाकिस्तान के खिलाफ जोह मैच खेला था उसमे एक जबरदस्त पारी खेला था भारतीयों टीम के लिए और उसके उस प्रदर्शन के बाद उन्हें अंतराष्ट्रियो टीम के लिए एक मजबूत जायगा बनाने में सफल राहा है.लेकिन भारतीयों टीम में लगातार अच्छे अच्छे प्रदर्शन करनेवाले खिलाडियों के भीड़ के वजह से उन्हें भारतीयों टीम में जायगा नहीं मिला.

उसके बाद साल 2009 में उन्हें फिरसे रणजी ट्रोफी में खेलने का मौका मिला और उस मैच में  तिहरा शतक लागाकर फिर से भारतीयों टीम के चयनकर्ता के नजर उनके उपर खीच लिया.इसीलिए उन्हें आनेवाले मैच भारत बनाम बांग्लादेश के बिच जोह मैच था उसके Rohit Sharma को चुने गया था लेकिन दुःख की बात यह है की उस मैच में उन्हें बल्लेबाजी करनेका मौका ही नहीं मिला था.उसके बाद उन्हें एक test मैच के लिए चुना गया था और उस मैच के अभ्यास के दोरान उन्हें चोट लाग जाने के वजह से उन्हें उस मैच में बहार ही रहना पढ़ा था.और उस वक्त भारतीयों टीम में नए नए अच्छे प्रदर्शन करने वाले खिलाडियों के कमी नहीं था इस वजह से उन्हें भारतीयों टीम में एक मजबूत जायगा बानाने में सफल नहीं रहा.इसीलिए 2011 के worldcup के मैच में भी उन्हें भारतीयों टीम के बहार रहना पड़ा था.

क्रिकेट कैरिएर में Rohit Sharma को  सफलता कैसे मिला था?

2011 के worldcup के बाद जब भारतीयों टीम के पुराने खिलाडियों को आराम दी दिया गया था उस समय सुरेश रैना अधिनायक था भारतीयों टीम का और आनेवाले मैच वेस्ट इंडीज के साथ था उस दोरान उसका चयन हो गया था.और उस सीरीज के सारे मैच में Rohit Sharma ने शानदार प्रदर्शन के बाद उन्हें उस सीरीज का man of the match के रूप में चुना गया था.इसके बाद से इनका पारी लगातार अच्छा चलने लागा और भारत में होनेवाले वेस्ट इंडीज के खिलाफ मैच में भी उन्हें ही man of the series में चुने गया था.

उसके बाद जबसे भारतीयों टीम से सचिन और सह्बाग गया तबसे लगातार भारतीयों टीम के लिए एक अच्छा opener का कमी हमेशा चलते रहा है.फिर 2013 के चैंपियन ट्रोफी के दोरान सिखर धवन के साथ Rohit Sharma को opening बल्लेबाजी करने को भेजा गया.उसके बाद उन दोनों के जोड़ी सेट हो जाता है.opening के बाद से उनके form अच्छा रहा और लगातार भारतीयों टीम के लिए अछे प्रदर्शन देते आया.उसके बाद भारत में ऑस्ट्रिलिया के खिलाफ मैच में Rohit Sharma ने फिर से दुहरा शतक लागा दिया और उसमे उसमे 16 छक्के मारे थे जोह की आज भी विस्स्य record बना हुआ है.

उसके बाद जब सचिन तेंदुलकर ने  भारतीयों टीम से बीदाय लिया उस मैच में Rohit Sharma ने 177 रन की बारी खेलकर टीम में आपना जायगा बरक़रार राखा.सौरभ गांगुली और अजरुद्धीन के बाद Rohit Sharma ही है जोह अपने पहले टेस्ट मैच में ही शतक लागाया था.2014 में कोलकाता में श्रीलंका के खिलाफ one day  मैच में 250  रन की एक शानदार पारी खेली.और one day की किसी पारी में 264 रन बनाकर सबसे अधिक रन बानाने वाले पहली खिलाडी Rohit Sharma नए बन गया था.उसके बाद 2015 के T 20 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए Rohit Sharma ने फिरसे शतक लगा दिया था.इसी तरह से लगातार शतक बनाते हुए दुसरे बल्लेबाज बने.

ipl में भी Rohit Sharma के  सफ़र  सफल  रहा और हर एक मैच में अच्छा प्रदर्शन करता रहा .ipl में वोह शुरुवात डेक्कन चार्जर से किया था.उस टीम को सफलता ना मिलने के बाद भी लोगो ने Rohit Sharma के बैटिंग की चर्चा की.इसीलिए बाद में उन्हें जादा मूल्य देकर mumbai indians टीम के लिए ख़रीदा गया था.अभी वोह mumbai indians के captain के रूप में है.2015 में ipl के top टीम चेन्नई super kings को हाराकर मुंबई indians को cup दिलाया.उसके बाद 2017 में rising pune को हराकर फाइनल में cup दिलाया mumbai indians को.फिर 2019 में ipl के शक्तिशाली टीम चेन्नई को हराकर तीसरे बार champion बना mumbai indians.

Rohit Sharma Ki Jivan Kahani

Rohit Sharma की Love story हिंदी में 

दोस्तों इस रोमांटिक जोड़ी के love story भी बहुत ही रोमांटिक है.यह दोनों कम से कम एक दुसरे को  6 साल से डेट करते ए है.क्यों की रितिका एक स्पोर्ट्स मैनेजमेंट कंपनी में इवेंट मेनेजर के तोर पार काम करती थी और तब वोह Rohit Sharma के लिए भी काफी बार assinments की मैनेज किया था.और ऐसे ही काम के सिलसिले में एक दुसरे से मुलाक़ात होता है.फिर धीरे धीरे रोहित और रितिका के दोस्ती हो जाता है और वोह दोस्ती पयार में बदल जाता है और अंत में दोनों के पयार साधी के मंच तक पहुचने में सफल रहा.

रोहित ने रितिका को किस तरह से आपने दिल की बात बाताया था?

Rohit Sharma ने बहुत ही शानदार और तरीके से रितिका को आपने दिल की बात बाताया था.रोहित ने रितिका को propose करने के लिए बोरीवली sports club के उस मैदान में रितिका को ले गया जहा वोह 11 साल के उम्र से पहली बार क्रिकेट खेला था.

रोहित शर्मा के पर्सनल लाइफ

फिर जब Rohit Sharma ने 28 अप्रैल 2015 को रितिका के सामने सधी का प्रस्ताब रखा और उन्होंने यह प्रस्ताब शिकार कर लिया.और उसके बाद ही रितिका ने social media में रोहित के साथ एक तस्बीर शेयर किया था.और उनके हाथ में भी enegejment रिंग भी था इसके वजह से इन दोनों के जोड़ी के बारे में लोग बहुत चर्चे में रहे है और finnaly 13 डिसेम्बर 2015 को एक दुसरे सधी के बंधन में बांध लिया.और और 30 दिसम्बर 2018 को उनके घर एक में एक नए मेहमान का आगमन हुआ यानि उनके एक बेटी हुआ.

Rohit Sharma Ki Jivan Kahani

Rohit Sharma के क्रिकेट कैरिएर के अवार्ड्स रिकार्ड्स की पूरी जानकरी
  • Rohit Sharma को one day में 2013-14 में espn से  सर्बस्रेस्ठो  बल्लेबाजी के नाम से  घोसना किया और उन्हें अवार्ड्स देकर सम्मानित किया.
  • उसके बाद 2015 में भारत सरकार द्वारा चुने गए अन्तराष्ट्रियो खेल में शानदार प्रदर्शन के बाद एक अछा पहचन बानाने के लिए उन्हें अर्जुन पुरस्कार मिला था.और यह पुरस्कार हर साल भारत सरकार उन्हें देते है जोह सर्बस्रेस्ठो प्रदर्शन देते है.
  • उसके बाद Rohit Sharma दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने पहली T 20 में शतक रन बना दिया था और 2015 के सर्बस्रेसठो बल्लेबाजी के रूप में प्रदर्शन किया उसके लिए उन्हें अवार्ड देकर सम्मानित किया गया था.

दोस्तों इस पोस्ट में मेने आपको Rohit Sharma के जीबन काहानी और उनके lifestyle /उनके क्रिकेट कैरिएर के  बारे में पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है और साथ साथ Rohit Sharma के लव स्टोरी के बारे में भी इस पोस्ट में मेने आपको बाताये है.उम्मीद है Rohit Sharma से जुड़े हुए यह जानकारी आपको पसंद आएगा और इस जानकरी से जुड़े हुए आपके मन में किसी भी तरह के सावाल/सुझाब रहता है तोह आप निचे कमेंट box का साहारा लेकर मेरे साथ शेयर कर सकते है.धन्यबाद.

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम मिथुन है,और में इस वेबसाइट को 2016 में बानाया हु.और इस वेबसाइट को बानानेका मेरा मूल मकसद यह है की लोगो को इन्टरनेट के माध्यम से हिंदी में इन्टरनेट की जानकारी प्रदान करना.इसीलिए इस वेबसाइट का नाम Internetsikho राखा गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.