हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिरसे आप सभीको internet sikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों ऐसे तोह आपको पाता चल ही गया होगा की आज में आपलोगों को क्या बातानेवाला हु.जी हा आज में आपलोगों को बॉलीवुड के अभिनेत्री SUSHMITA SEN के जीबन काहानी के बारे में बात करनेवाला हु.और उनके जीबन  में बॉलीवुड दुनिया  में आनेका रास्ता किस तरह का था उसके बारे में भी बात करेंगे.और bollywood जगत में आने के लिए उन्हें क्या क्या करना पढ़ा उसके बारे में भी जानेंगे,जिससे हामे कुछ ना कुछ सिख जरुर मिलेगा.

SUSHMITA SEN की जीबन काहानी हिंदी में  

दोस्तों यह वोह महिला है जोह बहुत ही कम उम्र में भारत का नाम बहुत उचाई तक ले गया था.beautifully SUSHMITA SEN के जन्म 19 nov 1975 में हुआ था.इनके परिबार तोह बंगाली राहा पार इनके जन्म हय्द्रेबाद में हुआ.और इनके पिता भारतीयों एयरपोर्ट्स में commendor  था और उनके माता एक ज्वेल्लेरी       desiginer था.SUSHMITA SEN के बहन का नाम नीलम और भाई का नाम राजीव है.SUSHMITA SEN के पढाई हुआ था न्यू डेल्ही के एयर फाॅर्स गोल्डन जुबिली institute में.फिर st.ann,s हाई स्कूल सिकंदराबाद में हुआ .इससे पहले SUSHMITA SEN ने जाहा पढाई करती वोहा miss university का नाम भी जीत लिया था.और यह सिर्फ 19 साल की उम्र में फेमिना मिस इंडिया बनी.इससे देखते हुए सबको लाग राहा था की सायेद ऐशारिया राय यह अवार्ड जीतेगा पार SUSHMITA SEN इस से थोडा आगे निकले और पहली मिस इंडिया बनी.ऐशारिया राय दूसरी पैदान पार आये और ख़ास बात यह है की इन् दोनों ने ही एक साल में वोह रिकॉर्ड बानाया जिसका इंतज़ार सभी था.SUSHMITA SEN मिस इंडिया बनी और ऐशारिया राय मिस वर्ल्ड.उसके बाद 1994 में SUSHMITA SEN मिस वर्ल्ड बनी थी और उसके बाद 1996 में फिल्म के शुरुवात की और उस फिल्म का नाम था दस्तक की और उसमे हीरोइन का रोले निभाया और साथ दिया शरद कापूर और कुल्देब को.फिर 1997 में तामिल फिल्मो में भी यह नजर आया था और   उस फिल्म      का नाम था rakshakan,biwi no.1 में इ नजर आये और यह कॉमेडी फिल्म थी इसमें सलमान खान इनके साथ थे और करिश्मा कपूर.इस फिल्म के लिए इन्हें फिल्म fare बेस्ट supporting actress के नाम से अवार्ड देकर सम्मानित भी किया गया था.

SUSHMITA SEN की बॉलीवुड में एंट्री कैसा रहा?

फिर इन्होने कुछ आइटम songs भी किये और कुछ बेहतरीन फिल्मे भी.गुलज़ार साहेब की बेटी मेघना गुलजार की फिल्म फिलहाल को कोन भूल सकता है .फिर शाहरुख़ खान की हीरोइन बनकर आई फिल्म में हु ना में जिसमे मिस चांदनी का रोले देखने जैसा था.SUSHMITA SEN उन एक्ट्रेस में से एक रही जिन्होंने हर तरह के सिनेमा में काम करने का कौशिश किया है.कल्पना राज की चिंगारी को कोन भूल सकता है और क्राइम थ्रिलर समय आपने आप में एक बहुत बड़ा उदहारन है.साल 2000 में SUSHMITA SEN ने वोह फैसला लिया जिसने पूरी दुनिया को हैरान कर दिया और 25 साल उम्र में उन्होंने ऐसा काम किया जोह अक्सर सहनी है.उन्होंने एक बाचची को गोद लिया और उनका नाम राखा रेनी.हैरान इस बात से था की एक लड़की जोह आभी साधी सुधा नहीं है वोह एक बाचची को गोद में कैसे लिए?फिर 2010 में इन्होने और एक बाचची को गोद लिए और इसका नामा राखा आलिशा.इसके बाद भी गौर करने की लायेक   है की यह आपनी बेटी को जब गोद में ले रही थी तब सभी डॉक्टर्स ने काहा था की यह बहुत बीमार बाचची है इससे बहुत antibiateictics दिए गए है और मेंटली फीट नहीं होगा इस बच्ची को आप गोद में ना ले.लेकिन SUSHMITA SEN ने और भी डॉक्टर्स की राय ली और आपनी फैसला पार कायेम रहे.

सुष्मिता सेन का कहना है की

जीबन में सफलता और असफलता चलते रहता है                                                                             पार आप किस तरह के सुचियत है                                                                                           वोह जादा महत्य राखता है

दोस्तों SUSHMITA SEN कही ना कही नौजाबानो के लिए एक प्रेरोना है.और  आपको बॉलीवुड के इस beautifull अभिनेत्री SUSHMITA SEN की जीबन काहानी से क्या सिखने को मिला और क्या जानने को मिला वोह आप जरुर निचे दिए कमेंट box में comment करके बाताये.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.