आपने love marriage को हैप्पी राखने के लिए क्या क्या करे?

0
आपने love marriage को हैप्पी राखने के लिए क्या क्या करे?

हेल्लो दोस्तों आज एकबार फिर से आप सभीको internet sikho में बहुत बहुत स्वागत है.दोस्तों इस दुनिया में आजके दिन में साधी 2 प्रकार के होने लागे है एक तोह अर्रंजे मैरिज जिसमे लड़का लड़की के घर वाले के मतामत से होता है ,और दूसरा जोह है love marriage जोह की लड़की लड़की खुद आपने पसंदिता प्रेमिक प्रेमिका से साधी करते है.लेकिन बात यह आता है की अर्रंजे marriage में तोह इतना झंझट नहीं रहता है क्यों की उसमे घरवालो का सपोर्ट रहता है .और जब हम love marriage का बात करने जाए तभी हामे यहसब हरकते जादा देखने को मिलता है जैसे तुम्हे अब मेरी कोई परवा है ही नहीं ,तुम अब मुझसे पहले जैसा प्यार नहीं करते हो ,और फिर अंत में यह भी बोल देते है की तुमसे प्यार करना और प्यार करके साधी करना मेरी जीबन का सबसे बड़ा भूल है ,और उसीकी साजा अब मुझे मिल राहा है.और फिर बोलते है की अब में येह्सब नहीं सह सकता हु बहुत हो गया अब ,अब में जा रही हु तुमसे छोरकर और तुमसे दूर यह ज़िन्दगी के लिए.उसके बाद तालाक(डिवोर्स)  या फिर समझोता यही सब देखने को मिलता है और यह सब के वजह से ही दुनिया में  कहते है की  अधिकांश  love marriage सफल नहीं होता है.और हर एक love love marriage करने वाला जोड़ी आपने जीबन में खुस रहना चाहते है और वोह चाहते है की उनके ज़िन्दगी हासते खेलते काट जाए और वोह कभी ना टूटे.और जादा जानकारी के लिए निचे दिया हुआ पोस्ट को पूरा पढ़े.

आपने love marriage को हैप्पी राखने के लिए क्या क्या करे?

 

love marriage करने वाले लोग जादा अलग क्यों हो जाते है?

दोस्तों जब दो प्रेमिक प्रेमिका सच्चे दिल से एक दुसरे को प्यार कर बैठते है और वोह दोनों कुछ दिन बाद एक दुसरे के भरोसा करके साधी कर लेते है फिर आपना घर बासा लेते है मगर जादातर प्रेमिक प्रेमिका आपने marriage लाइफ को सुखमय नहीं बाना पाते है ,हाजारो गिल्ले सिकवे लेकर वोह दो प्रेमिक अलग अलग हो जाते है.जादातर love marriage में ऐसा क्यों है?

कैसे आपने love marriage लाइफ को सुखी राखा जाए?और क्या देखकर लोग love marriage करते है?

दोस्तों होता यह है की जब  हाम नए नए  प्रेम करते है तोह  हामारा या फिर आपके साथी जब आपसे साधी से पहले या साधी के कुछ बाद  तक करते थे ,और हाम उसी प्रेम का उम्मीद हर समय हर साल आपने प्रेमी से करते है लेकिन जब साधी के कुछ दिन बाद हामारा प्रेमिक हामारी उन उमीदो पार खारा नहीं उतार पाता तो तब हामे यह लागने लागता है की हामारे जिबनसाथी अब हामसे वोह पहले की तरह प्रेम नहीं करता जोह प्रेम साधी से पहले करता था तब फिर वोही एक ही बात धीरे धीरे कुछ दूसरी छोटा मोटा बातो से कदर बाढ़ जाती है एक दिन हाम आपनी love marriage की खुशियाँ ही तबाह कर देते है.और ऐसे करने वक्त हाम यह नहीं जानते की जिस कारण से हामने यह सब किया ,वोह कारण क्या था?

love marriage साधी के बाद एक दुसरे  का प्यार क्यों कम हो जाता है?

दोस्तों साधी से पहले हर एक लड़की उसके माँ बाप के पास आपने घर में होते है ,और वोह जब ही आपसे मिलते है तोह सिर्फ प्रेम ही प्रेम से बात करते है आपसे क्यों की वोह आपसे दूर रहते है आप जादा समय उनके साथ नहीं रहते है इसीलिए उसके मन में सिर्फ आपके लिए ही प्रेम रहता है और वोह आपके लिए तड़पते रहता है ,लेकिन जब साधी हो जाता है उसके  बाद आपके प्रेमिका हर समय आपके साथ ही रहता है .अब हर समय आपके साथ रहने का मतलब यह तोह नहीं की वोह हर समय सिर्फ आपसे प्रेम ही करता रहे क्यों की इस ज़िन्दगी में जीने के लिए प्रेम के साथ साथ बहुत सारे ऐसे काम भी है जोह की आपके बिबाह जीबन को खुशियों में बीतेगी और आप दोनों के ज़िन्दगी जीने के लिए किसी भी तरह का मुसीबत का सामना नहीं करना पड़ेगा.अब यह भी तोह है की एक प्रेम के साथ तोह पुरे ज़िन्दगी नहीं जी सकते है.देखो जादा से जादा यह होता है की साधी के बाद सब सोचते है की उनके प्रेमिक प्रेमिका तोह उनके पास ही है और उनके अनमोल प्रेम भी इसीलिए आपका साथी आपके प्रेम के उपर थोडा निश्चित रहकर उन चीजो के बारे में चिंता करने लाग जाते है जोह चीज आपके और आपके प्रेमिका के घर आराम से चल सके और एक सुखी जीबन जी सके.और उन् चीजो के बारे में सोचकर जब वोह उन चीजो के पीछे जाता है तब उसके मन में बास वोही सब चीजे घूमते रहता है.इससे  प्रॉब्लम यह होता है की  उसके दिल में आपके प्रति वोही प्रेम होते हुए भी वोह आपसे उनका प्रेम ठीक से आपको नहीं दिखा पाता है,और तब आप यह सोच लेते है की आपके बीबी के मन बदल गए है अब उसके दिल में आपके लिए पहला जैसा प्रेम नहीं राहा.और यह बात जब आपने मन में सोचते रहते है तब आपके मन में लागेगा की कोई आपके साथी दुसरे के साथ तोह एन्गजे तोह नहीं है?बास आपके येही सोच धीरे धीरे आपके दिल और दिमाग में बढ़ते ही चले जाते है फिर छोटी मोती कुछ दूसरा बातो के साथ भी येही एक बाते आजाता है ,फिर एक दिन आपके love marriage टूटने के लिए मजबूर हो जाता है.

love marriage करके सुखी रहने के लिए क्या करे?

दोस्तों अब में जोह बात आपको कहने जा राहा हु उससे आप थोडा ध्यान से पढ़िए और पढने के बाद जारा सोचिये इस बारे में.आगर आप चाहते है की आपके  love marriage हामेशा हासी ख़ुशी और सुखमय राखना चाहते है तोह आप इस बात बात को आपके दिमाग में बैठा लीजिये की प्रेम एक ऐसा अनमोल भाबना है की जिसका रूप वक्त के साथ साथ जीबन के हर एक समय में बदलते रहता है ,और बदलते रूप में भी प्रेम होता है वोही प्रेम आसली प्रेम होता है.साधी से पहले तोह प्रेम में मजाक,मस्ती मतलब एक दोस्ती के रूप में होता है ,लेकिन साधी के बाद प्रेम एक ज़िम्मेदारी के रूप में बदल आता है.अब साधी के बाद प्रेम को जिम्मेदारी में बदलते रूप का मतलब है की आपके जीबनसाथी के कांधो पार आपके ज़िम्मेदारी आना मतलब हर हाल में आपको उससे खुश राखना है और आपके साथ साथ घर के हर जरुरत को भी पूरा करना है.और जोह जोड़ी साधी के बाद आपनि इस जिम्मेदारी को समझते है और निभाते है और उससे उसकी जिम्मेदारी निभाते समय उसका साथी उसका मदत करता है ना की कहे की तुम मुझसे अब प्रेम नहीं करते है ,तुम बदल गए हो ऐसे कहने से उसके दिल में दुःख होता है ,और उन् जिबंसाथियो के की  love marriage पार एक दिन कोई मुसिबोतो के ऐसे चोट पड़ता है की उनके  love marriage टूट जाता है या फिर एक समझोता बनकर रह जाता है.इसीलिए शाधि के बाद आगर आपका साथी आपनी जिम्मेदारी समझते हुए निभा राहा है और उसकी वजह से वोह आपसे प्रेम के जादा बाते नहीं कर पा रहे है तोह आप कही यह मत समझ लेना की अब उसका प्रेम वोह नहीं राहा है जोह साधी से पहले था.आप मेरा बात मानिए आगर आप कुछ उल्टा पुल्टा सोचने के वझे कुछ अच्छा सोचते हो तोह आपके आपने जीबनसाथी पार पहले से कोई गुना जादा प्रेम आएगा और उस पार बहुत ही जादा   आपको और उन्हें गर्व भी होगा.प्रेम को एक रूप जोह की जिम्मेदारी होता है    उससे लेकर ऐसा सोचना और समझना तब बहुत जरुरी हो जाता है जब   की आप सारे दिन घर में एकेले रहते हो और आपका जीबनसाथी आपनी जिम्मेदारी निभाते हुए घर से बाहार जब कर राहा होता है और उसके चलते वोह आपके पास वापस में साम को घर आते है.

साधी के पहले प्यार और साधी के बाद के प्यार में क्या फर्क है?

दोस्तों एक बात का ख्याल आपको हामेशा आपके दिमाग में राखना होगा ,की साधी से पहले जोह प्यार रहता है वोह सिर्फ प्यार ही रहता है ,और साधी के बाद प्यार ज़िम्मेदारी होता है.प्यार के कोई सारे रूप है इसीलिए प्यार को सफल बानाने के लिए वक्त के साथ साथ प्यार के हर एक रूप में ढालना बहुत जरुरी होता है.नहीं तोह कभी आपके जीबन में ऐसा एक दिन आएगा जब आपके पास ना प्यार रहेगा और ना ही कभी खुदे से प्यार करने करने का लायेक रहोगे.

तोह दोस्तों यह था आजका छोटा सा ज्ञान और मुझे उम्मीद है की इस पोस्ट से आपको यह जानने को मिला है की  love marriage में कैसे एक सुखमय ज़िन्दगी जिया जाए.और  love marriage जीबन को सुखी राखने के लिए क्या क्या क्या आपको करना चहिये.और यह पोस्ट आपको आछा लागा तोह आप मुझे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बाताना ना भूले .और ऐसे ही हरदिन एक नए जानकारी आपके मेल बॉक्स में पाने के लिए internet sikho को subscribe करना ना भूले.

SHARE
Previous articleआजके दिन में पैसा है तोह प्यार है पैसा नहीं तोह प्यार भी नहीं
Next articleक्या घर से भागकर साधी करना सही फैसला है?

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम मिथुन है ,और में वेस्ट बंगाल से हु ,और जब के लिए फिलहाल मुंबई में रहता हु .और यह वेबसाइट को मैंने 2016 में बानाया हु.और मुझे इस वेबसाइट का बानाने का मकसद यह है की लोगो को इन्टरनेट के माध्यम से हर एक तरह के जानकारी देकर उनका मदत कर सके ,और इसीलिए में इस वेबसाइट का नाम internetsikho.com राखा है.और इस साईट में आपको latest internet से जुड़े हुए tips ,tricks ,social tricks ,indian history ,share market basic tips ,technical analysis ,love tips.motivation story,love story,love tips, mumbai darshan,lifestyle,blogging से जुड़े हुए हर तरह के जानकारी हिंदी में दिया जाता है.और मुझे उम्मीद है की आपको इस साईट में दिए हुए जानकारी से हरदिन कुछ ना कुछ नया सिखने और जानने को मिलेगा .और कृपया करके आपके दोस्तों के साथ भी इस साईट के बारे में बाताये और ऐसे हामारे साथ बने रहे ,और हरदिन कुछ नया जानते रहिये और सीखते रहिये क्यों की सिखने का नाम ज़िन्दगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here